500+ खूबसूरती की तारीफ शायरी २ लाइन | khubsurti ki Tareef Shayari 2 Line in Hindi

इस पोस्ट में आप पढ़ेंगे खूबसूरती की तारीफ शायरी २ लाइन का पूरा कलेक्शन जिसमे से आप किसी की khubsurti ki Tareef shayari 2 line में कर सके। 

यकीन मानिये ऐसी किसी व्यक्ति की तारीफ में शायरी Hindi में आपने पहले कही नहीं पढ़ी होगी जो सीधा दिल को छू जाये। 

खूबसूरती की तारीफ शायरी २ लाइन

किसी की तारीफ करने का शायरी से अच्छा तरीका और क्या होगा। तो अगर आपको भी किसी की खूबसूरती की तारीफ कुछ शायराना अंदाज में करनी है तो आप इन प्यार भरी लाइन्स को पढ़ सकते है।

खूबसूरती की तारीफ शायरी २ लाइन

1. तू जरा सी कम खूबसूरत होती
तो भी बहुत खूबसूरत होती

2. सफाईयां देनी छोड़ दी है
मैं बहुत बुरी हूं सीधी सी बात है

3. बहक ना जाए कहीं लौ की नियत
होठों से दीया तू बुझाया ना कर

4. लड़ने दो जुल्फों और हवाओं को आपस में
तुम क्यों हाथ से उन में सुलह कराने लगती हो

5. करते है   मेरी खामियों का बयान इस तरह लोग,
अपने किरदार में फरिश्ते हो जैसे

6. तेरे इश्क ने सरकारी दफ्तर बना दिया दिल को
ना कोई काम करता है कोई बात सुनता है

7. क्या लिखूं तेरी तारीफ ए सूरत में यार
अल्फाज कम पड़ रहे हैं तेरी मासूमियत देखकर

8. जब से कमाने की होड़ में जुड़ी हूं
मेरी गुल्लक में सपने कम हो रहे हैं

9. अहमियत दी तो कोहिनूर खुद को मानने लगे,
कांच के टुकड़े भी क्या खूब वहेम पालने लगे।

10. सौ बार कहा दिल से चल भुल भी जा उसको,
सौ बार कहा दिल ने तुम दिल से नही कहते।

खूबसूरती की तारीफ शायरी २ लाइन

11. बारिश और मोहब्बत दोनों ही यादगार होते हे,
बारिश में जिस्म भीगता हैं और मोहब्बत मैं आँखे।

12. मैं रोज़ लफ़्ज़ों में बयान करता हूँ अपना दर्द,
और सब लोग सिर्फ़ वाह वाह कह कर चले जाते है।

13. मिल जायेगे हमारी भी तारीफ करने वाले
कोई हमारी मौत की अफवाह तो फैला दो

14. इन आँखों को जब जब उनका दीदार हो जाता है
दिन कोई भी हो, लेकिन मेरे लिए त्यौहार हो जाता है

15. जब मैंने चाँद को अपना चाँद दिखाया,
रात में निकला पर हुस्न पर नहीं इतराया

16. हुस्न को शर्मसार करना ही
इश्क़ का इंतिक़ाम होता है

17. ये आईने ना दे सकेंगे तुझे तेरे हुस्न की खबर,
कभी मेरी आँखों से आकर पूछो के कितनी हसीन हों तुम।

18. तेरी सादगी का हुस्न भी लाजवाब है,
मुझे नाज़ है के तू मेरा इंतेख़ाब है।

19. गए थे उनके हुस्न को बेनकाब करने,
खुद उनके इश्क का नकाब पहनकर आ गए।

20. या रब मेरे महबूब को सलामत रखना
वर्ना मेरे जीने की दुआ कौन करेगा

Khubsurti ki Tareef Shayari 2 Line

अपने किसी खास की खूबसूरती को शब्दों में बया करने के लिए चुनिए ऐसी शायरी जो अपना असर छोड़ दे और आपकी बात को सीधा दिल तक पंहुचा दे।

हम आपके लिए चुन कर ऐसी खूबसूरती की तारीफ शायरी २ लाइन की लिस्ट लाये है जो हर किसी को पसंद आती है।

1. मर गया मैं खुली रही आँखे
मीना तेरे आशा की हद थी

2. खीर से जी भरा नही बनाओं माला पनीर
जल्दी माला आओ या भेजो अपनी तस्वीर

3. तेरी याद में न चैन रहे न करार
ख़त दे दिया करे क्यों जला रहे हो यार

4. इश्क के फूल खिलते हैं तेरी खूबसूरत आंखों में,
जहां देखे तू एक नजर वहां खुशबू बिखर जाए।

5. सुबह का मतलब मेरे लिए सूरज निकलना नही,
तेरी मुस्कराहट से दिन शुरू होना है।

khubsurti ki tareef shayari 2 line

6. घूँघट में इक चाँद था और सिर्फ तन्हाई थी,
आवाज़ दिल के धड़कने की भी फिर ज़ोर से आयी थी।

7. तेरे वजूद से हैं मेरी मुक़म्मल कहानी,
मैं खोखली सीप और तू मोती रूहानी

8. हर बार हम पर इल्जाम लगा देते हो मुहब्बत का,
कभी खुद से भी पूंछा है इतनी खूबसूरत क्यों हो

9. दीदार हो जाता है दिन कोई भी हो,
लेकिन मेरे लिए त्यौहार हो जाता है

10. क्युकी में तुम्हे वैसे ही पसंद किया है जैसे तुम हो
कल तुम्हारा तारीफ करना अच्छा लगता था तोह
आज दूर रहना,रुक जाना यह भी सही है।

खूबसूरती शायरी 2 लाइन

1. तेरे हसन का करू ही क्या में तारीफ तू जो एक
बार मुस्कुरादे तो इश्क़ मेह पड़जाये ये पूरा महफ़िल

2. तारीफ अपने आप की करना फ़िज़ूल है
खुशबू खुद बता देती है कौन सा फूल है

3. जो लव्स तेरी तारीफ करते नहीं थकते थे
आज वो तेरा नाम तक नहीं लेना चाहते है

4. तेरे हुस्न की तारीफ मेरी शायरी के बस की नहीं
तुझ जैसी कोई और कायनात में बनी नहीं

5. वो कहती हैँ हम उनकी झूठी तारीफ करते हैँ
ए खुदा बस एक दिन आईने को जुबान दे दे

khubsurti ki tareef shayari 2 line

6. बेअदबी की सज़ा पाने को तेरे दर पे आया हूँ,
हुस्न लफ़्ज़ों में बयाँ करने की कोशिश की थी

7. सुना है वो पलकें झुका कर सुबह को शाम करते हैं
ख़ुदा बचाए हमें, वो अपने हुस्न से ही कत्ले आम करते हैं

8. निकलते हैं घर से सिर्फ इक मुस्कान का गहना पहने,
ख़ुदा कसम, हुस्न की इसी सादगी पे तो हैं फिदा हम

9. ऑंखे यो की दो पैमाने भरे हों मय के,
हुस्न यो की जैसे ख़ुदा का नूर हो कोई

10. शोखी से ठाहेरती नहीं कातिल की नजर आज,
ये बर्क-ए-बाला देखिये गिरती है किधर आज

खूबसूरत चेहरा शायरी इन हिंदी 2 Line

1. मुझे क्या मालूम था हुस्न क्या होता है
मेरी नज़रों ने तुझे देखा और अंदाजा हो गया

2. फूलों सा कोमल चेहरा तेरा, तू संगमरमर की मूरत है
तेरे हुस्न की क्या तारीफ़ करूँ, तू इतनी खूबसूरत है

3. तेरे हुस्न के आगे मुझे लगता है सब कुछ सादा
आस्मां में है पूरा चाँद पर मुझे लगता है आधा

4. क्या पूछते हो हमसे हुस्न की तारीफ़
हमें जिस से मोहब्बत हुई, वो ही सबसे हसीं

5. ये आईने क्या देंगे तुझे तेरे हुस्न की खबर
मेरी आँखों से तो पूछ कर देख कितनी हसीन है तू

किसी की तारीफ करने वाली शायरी

1. तू रूठी रूठी सी लगती है, कोई तरकीब बता मनाने की,
मै जिन्दगी गिरवी रख दूंगा, तू कीमत बता मुस्कुराने की

2. तुम्हारी हंसी कभी कम ना हो, ये आँखे कभी नम ना हों,
तुमको मिले जिन्दगी की हर खुशी, भले उस खुशी में शामिल हम ना हों

3. तेरी धड़कन ही ज़िंदगी का किस्सा है मेरा, तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा
मेरी मोहब्बत तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है, तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा

4. तेरे प्यार ने हमें हसना सिखाया, तेरे प्यार ने हमें बहुत रुलाया,
प्यार में पागल लोग दुनिया भूल जाते हैं, तेरे प्यार में हमने अपने आप को भुलाया

5. मोहब्बत का मतलब इंतज़ार नही होता, हर किसी को देखना प्यार नही होता,
यू तो मिलता है रोज़ मोहब्बत-ए-पैगाम, प्यार है ज़िंदगी जो हर बार नही होता

लड़कियों की सुंदरता पर शायरी

1. इतना किसी को सताया नहीं करते, हद से ज़्यादा किसी को तड़पाया नहीं करते,
जिनकी साँसें चल्ती हों आपके लफ़्हज़ों से, उन्हे अपनी आवाज़ के लिये तरसाया नहीं करते

2. मोहब्बत का कोई कलर नही फिर भी वो रंगीन है,
प्यार का कोई चेहरा नही फिर भी वो हसीन हैं

3. धडकनों को कुछ तो काबू में कर ऐ दिल,
अभी तो पलके झुकाई है मुस्कुराना बाकी है उनका

4. दिल की हर ख़ुशी हो तुम होठों की मुस्कान हो तुम
धड़कता है मेरा ये दिल जिसके लिए वो मेरी जान हो तुम

5. यूँ हर पल सताया न कीजिये यूँ हमारे दिल को तडपाया न कीजिये
क्या पता कल हम हों न हों इस जहाँ में यूँ नजर हमसे आप चुराया न कीजिये

खूबसूरती की तारीफ पर शायरी

1. तस्वीर बना कर तेरी आसमान पर टांग कर आया हूँ,
और लोग पूछते है आज चाँद इतना बेदाग कैसे है

2. क्या लिखू तेरी तारीफ़ ए सूरत में यार,
अल्फ़ाज़ काम पड़ जाते है, तेरी मासूमियत देखकर

3. आपकी तारीफ के लायक बनना यही तो ख्वाहिश है मेरी,
क्युकी हमसे ज़्यादा खूबसूरत, तो आपकी तारीफों के बोल होते है

4. सोचा की कुछ अपनी तारीफ में लिख दूँ,
फिर सोचा की तुम्हे ही अपनी तारीफ में लिख दूँ

5. तारीफ़ तेरी नामुमकिन है चाँद अल्फ़ाज़ों में,
सोचता हूँ की तुझ पर एक किताब लिखूं

खूबसूरती की तारीफ शायरी 4 लाइन

1. कितनी खूबसूरत हैं आँखें तुम्हारी, बना दीजिये इनको किस्मत हमारी,
इस ज़िंदगी में हमें और क्या चाहिए, अगर मिल जाए मोहब्बत तुम्हारी।

2. कैसी थी वो रात कुछ कह सकता नहीं मैं,
चाहूँ कहना तो बयां कर सकता नहीं मै

3. ये आईने क्या दे सकेंगे तुम्हें तुम्हारी शख्सियत की खबर,
कभी हमारी आँखो से आकर पूछो कितने लाजवाब हो तुम

4. कैसे ना हो इश्क, उनकी सादगी पर ए-खुदा,
ख़फा हैं हमसे, मगर करीब बैठे हैं

5. हम पर यूँ बार बार इश्क का इल्जाम न लगाया कर,
कभी खुद से भी पूंछा है इतनी खूबसूरत क्यों हो

किसी व्यक्ति की तारीफ में शायरी Hindi

1. तेरी निगाह दिल से जिगर तक उतर गयी,
दोनों को ही एकअदा में रजामंद कर गई।

2. इश्क के फूल खिलते हैं तेरी खूबसूरत आँखों में,
जहाँ देखे तू एक नजर वहाँ खुशबू बिखर जाए

3. बचपन में सोचता था चाँद को छू लूँ,
आपको देखा वो ख्वाहिश जाती रही

4. तेरा अंदाज़-ए-सँवरना भी क्या कमाल है,
तुझे देखूं तो दिल धड़के ना देखूं तो बेचैन रहूँ

5. हर बार हम पर इल्जाम लगा देते हो मुहब्बत का,
कभी खुद से भी पूंछा है इतनी खूबसूरत क्यों हो

महबूब की तारीफ शायरी

1. हमारे लफ्जों में है तारीफ एक चेहरे की
हमारे महबूब की मुस्कुराहट से चलती है सांसे हमारी

2. वो हमे रोज कहती थी मुझे तुम चाँद ला कर दो
उसे एक आईना दे कर अकेला छोड़ आया हूँ।

3. नहीं कहता में उसकी तारीफ के किस्से
अब उन्हें आँकूं तो आँकूं किससे।

4. तेरी जितनी तारीफ करू उतनी ही कम है
तेरे सिवा हम कुछ भी नहीं अगर तुम हो तो हम है।

5. उस के चेहरे की चमक के सामने सादा लगा
आसमाँ पे चाँद पूरा था मगर आधा लगा

सनम की तारीफ शायरी

1. न पूछो हुस्न की तारीफ़ हम से
मोहब्बत जिस से हो बस वो हसीं है

2. तेरी सूरत से किसी की नहीं मिलती सूरत
हम जहाँ में तिरी तस्वीर लिए फिरते हैं

3. निगाह बर्क़ नहीं चेहरा आफ़्ताब नहीं
वो आदमी है मगर देखने की ताब नहीं

4. मैं जहाँ हूँ तिरे ख़याल में हूँ
तू जहाँ है मिरी निगाह में है

5. आइना देख के कहते हैं सँवरने वाले
आज बे-मौत मरेंगे मुझ पर मरने वाले

खूबसूरत दो लाइन शायरी

1. ऐ सनम जिस ने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी रब ने मुझ को भी मोहब्बत दी है

2. हम तो अल्फाज़ ही ढूढ़ते रह गए,
और वो आँखों से गज़ल कह गए

3. ऐ चाँद मत कर इतना गुरुर… तुझमें तो दाग है,
पर मेरे वजूद में जो चाँद सिमटा है वो बेदाग है

4. रुख से पर्दा हटा तो, हुस्न बेनकाब हो गया,
उनसे मिली नज़र तो, दिल बेकरार हो गया

5. ये आईने ना दे सकेंगे तुझे तेरे हुस्न की खबर,
कभी मेरी आँखों से आकर पूछो के कितनी हसीन हों तुम

खूबसूरती पर दो लाइन शायरी

1. तेरी खूबसूरती की तारीफ में क्या लिखूं,
कुछ खूबसूरत शब्दों की अभी तलाश है मुझे

2. आसमां में खलबली है सब यही पूछ रहे हैं,
कौन फिरता है ज़मीं पे चाँद सा चेहरा लिए

3. हसीन चेहरों से सीखी हमने सिर्फ एक बात,
जिसकी जितनी हसीं अदा है वो उतना ही बेवफा है

4. तेरा चेहरा कितना सुहाना लगता है,
तेरे आगे चांद पुराना लगता है

5. सब है तारीफ करते है मेरी शायरी,
कभी कोई नहीं सुनता मेरे लफ़्ज़ों की सिसकियाँ

khubsurti ki tareef shayari in hindi

1. ये दिलबरी, ये नाज़, ये अंदाज़, ये जमाल,
इंसान करे अगर न तेरी चाह… क्या करे

2. एक खूबसूरत एहसास बे-आवाज हो गया
इश्क अब इश्क ना रहा जैसे रिवाज हो गया

3. बेशक खूबसूरत तो वो आज भी है
लेकिन चेहरे पर वो मुस्कान नहीं जो हम लाया करते थे

4. हटा के जुल्फ़ चहरे से ना तुम छत पर शाम को जाना
कहीं कोई ईद ना करले सनम अभी रमज़ान बाकी है जानेमन

5. होंठ गुलाबी है तेरे जैसे पंखुडी गुलाब की
शराब कौन पिए पागल जब तुम हो बोतल शराब की

Final Words On खूबसूरती की तारीफ शायरी २ लाइन

हमने कोशिश की है की आपको सबसे बेस्ट khubsurti ki tareef shayari 2 line मिल सके हमारी इस पोस्ट की मदद से।

अपनी पसंदीदा लाइन कौनसी है हमने कमैंट्स में जरूर बताये साथ ही इस पोस्ट को शेयर करना ना भूले। अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो आप कमैंट्स में पूछ सकते है। प

Leave a Comment

Your email address will not be published.