2 Line ShayariHindi Status

Galti ka ehsaas shayari | माफी शायरी | ग़लती का एहसास शायरी

galti ka ehsaas shayari

Galti ka ehsaas shayari | माफी शायरी | ग़लती का एहसास शायरी

Galti ka ehsaas Shayari, Quotes, Status, Galti Maaf Shayari, Ho gayi ghalati Shayari, Maafi ki shayari, ग़लती का एहसास शायरी, माफी शायरी, अपनी ग़लती स्टेटस for Girlfriend, BF, Wife, Husband for whatsapp and facebook.

Galti ka ehsaas shayari ग़लती का एहसास शायरी

कितना प्यार है तुमसे वो लफ़्ज़ों के सहारे कैसे बताऊँ,
महसूस कर मेरे एहसास को गवाही कहाँ से लाऊं।

वजूद शीशे का हो तो पत्थरों से मोहब्बत नहीं करते,
एहसास-ए-चाहत ना मिले तो हस्ती बिखर जाती है।|

रूठा रहे वो मुझसे ये मंज़ूर है हमें लेकिन,
यारो उसे समझाओ के मेरा शहर न छोड़े…

Galti ka ehsaas shayari

galti ka ehsaas shayari

ये वक़्त बेवक़्त मेरे ख्यालों में आने की आदत छोड़ दो तुम,
कसूर तुम्हारा होता है और लोग मुझे आवारा समझते हैं..!!

वो अपने फ़ायदे की खातिर फिर आ मिले थे हम से,
हम नादान समझे के हमारी दुआओं में असर बहुत है..

Pyar ka ehsaas shayari in hindi

लगता है इस बार मुझे मोहब्बत होकर ही रहेगी,
आज रात ख्वाब में मैंने खुद को बरबाद होते देखा है….

मोहब्बत की आजतक बस दो ही बातें अधूरी रही,
इक मै तुझे बता नही पाया, और दूसरी तूम समझ नही पाये.

Dard ka ehsaas shayari

Dard ka ehsaas shayari

वो जान गयी थी ,हमे दर्द में मुस्कराने की आदत हैं
वो रोज नया जख्म देती थी मेरी ख़ुशी के लिए

सुना हे, वोह जब मायुश होते हे, हमे बहोत याद करते हे
अये खुदा, अब तुहि बता, उसकी खुशी की दुआ करु या मायुशि कि!!!

कैसे करूँ मुकदमा उस पर उसकी बेवफाई का
कमबख्त ये दिल भी उसका ही वकील निकला…

लिख रहा हूँ आज फिर कुछ अपनी खामोश तमन्नायें
कुछ तो महसूस करेंगे पर कुछ फिर से वाह-वाह करेंगे…

कभी मौका मिला तो हम किस्मत से शिकायत जरुर करेंगे…
क्यो छोड़ जाते हैं वो लोग जिन्हे हम टुटकर चाहते हैं…

Mohabbat ka ehsaas shayari

Mohabbat ka ehsaas shayari

समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे किस्से
शायद अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर इनकी जरुरत पड़े..

हम तो सोचते थे कि लफ्ज ही चोट करते हैं मगर
कुछ खामोशियों के जख्म तो और भी गहरे निकले…

तुम तो चले गए मुस्कुरा कर उस मोड़ से मगर
मैं आज भी छत के किनारे पर तेरा इंतजार कर रहा हूँ…

माफी शायरी

किसी के दिल में बसना कोई गुनाह तो नहीं,
गुनाह है ये जमाने के नजर में तो, क्या जमाने वाले कोई खुदा तो नहीं।।

छोड़ दें कोशिशें इंसानों को पहचानने की,
यहाँ जरूरतों के हिसाब से बदलते नकाब हैं।

कोई किसी को पसन्द करे तो कोई गुनाह नहीं।
इश्क और पसन्द दिल के दो अलग अलग एहसास है।।

ग़लती का एहसास शायरी For Boyfriend

ग़लती का एहसास शायरी For Boyfriend

बहाना कोई ना बनाओ तुम मुझसे खफा होने का।
तुम्हें चाहने के अलावा कोई गुनाह नहीं है मेरा।।

अगर तेरे बिना जीना आसान होता तो।
कसम मुहब्बत की तुझे याद करना भी गुनाह समझते।।

Galti ka ehsaas shayari

galti ka ehsaas shayari

ये ना पूछ के शिकायतें कितनी है तुम से,
तो बता तेरा कोई और सितम बाकी तो नहीं।

कभी सोचा न था के वो मुझे तनहा कर जायेगा,
जो अक्सर परेशां देख कर कहता था, मैं हूँ ना।

एहसास nahi tujhko shayari

एहसास nahi tujhko shayari

खामोशियाँ कर देती बयां तो अलग बात है,
कुछ दर्द है जो लफ़्ज़ों में उतारे नहीं जाते।

झूठी हँसी से जख्म और बढ़ता गया,
इससे बेहतर था खुलकर रो लिए होते।

मोहब्बत ख़ूबसूरत होगी किसी और दुनिया में,
इधर तो हम पर जो गुज़री है हम ही जानते हैं।

जब जब मुझे लगा मै तेरे लिए ख़ास हूँ
तेरी बेरुखी ने ये समझा दिया मैं झूठी आस में हूँ

Ehsaas 2 line shayari

Ehsaas 2 line shayari

सुना है आज समंदर को बड़ा गुमान आया है,
उधर ही ले चलो कश्ती जहां तूफान आया है।

इस बात का एहसास किसी पर ना होने देना
की तेरी चाहतो से चलती है मेरी सांसे

उसके दिल पर भी क्या खूब गुज़री होगी
जिसने इस दर्द का नाम मोहब्बत रखा होगा

बस यही है ये मेरे एहसास में कैसी महक कोई
खुशबू में लगाओ तेरी खुसबू आये

Galti ka Ehsaas Poem in Hindi

मुझ को एहसास है लेकिन तुझे एहसास नही
तेरे दामन कु हवा मेरे लिए रास नही

लगता है मै भूल चुका हूं मुस्कुराने का हुनर
कोशिश जब भी करता हू आँसू निकल आते है

Galti ka ehsaas shayari

galti ka ehsaas shayari

मुझे मालूम नही मेरी आँखों को तलाश किसकी
तुझे देखता हूं तो मंजिल का एहसास होता है|

यह भी पढ़े-

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close